Adinath Bhagwan ki Aarti | आदिनाथ भगवान की आरती

Adinath Bhagwan ki Aarti

आरती उतारूँ आदिनाथ भगवान की
माता मरुदेवि पिता नाभिराय लाल की
रोम रोम पुलकित होता देख मूरत आपकी
आरती हो बाबा, आरती हो, प्रभुजी हम सब उतारें थारी