Ganpati Bhaj Pragat Parvati – Ganesh Aarti

Ganpati Bhaj Pragat Parvati

श्री गणपति भज प्रगट पार्वती, अंक विराजत अविनासी।
ब्रह्मा विष्णु सिवादि सकल सुर, करत आरती उल्लासी॥
त्रिशूल धर को भाग्य मानिकै, सब जुरि आये कैलासी।
करत ध्यान, गन्धर्व गान-रत, पुष्पन की हो वर्षा-सी॥

Ganesh Ji Ki Aarti | जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा

गणेश जी की आरती जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा। माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा।। एकदंत, दयावन्त, चार भुजाधारी, माथे सिन्दूर सोहे, मूस की सवारी। पान चढ़े, फूल चढ़े और चढ़े मेवा, लड्डुअन का भोग लगे, सन्त करें सेवा।। .. जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश, देवा। माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा।। अंधन को … Read more